खड़ा हिमालय बता रहा है, डरो न आंधी पानी में।

खड़ा हिमालय बता रहा है
डरो न आंधी पानी में।
खड़े रहो तुम अविचल हो कर
सब संकट तूफानी में।

डिगो ना अपने प्राण से, तो तुम
सब कुछ पा सकते हो प्यारे,
तुम भी ऊँचे उठ सकते हो,
छू सकते हो नभ के तारे।

अचल रहा जो अपने पथ पर
लाख मुसीबत आने में,
मिली सफलता जग में उसको,
जीने में मर जाने में।

For Business Inquiry contact bcdtechnology@gmail.com or bcdtech0@gmail.com

Want to contribute:
Bitcoin: 1P1nwo51MDn8fPuBCkYU4v5XQRApq4ejY2

http://www.bcdtech.in
https://twitter.com/BCD_Tech
https://www.facebook.com/bcdtech.in
BCD Tech

Leave a Reply

Your email address will not be published.